Trending News (ट्रेंडिंग न्यूज)

जयललिता जीवन परिचय | Jailalitha biography in Hindi

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता का पूरा नाम जयललिता जयराम था, शुरुआत में वो एक फिल्म अभिनेत्री थी लेकिन बाद में वो राजनीति में आ गई। जयललिता का जन्म 24 फरवरी 1948 में भारत के मैसूर राज्य के छोटे से राज्य मंडिया में हुआ। वह एक क्षेत्रीय दल ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम की तरफ से तमिलनाडु की छः बार मुख्यमंत्री रही और 8 दिसंबर 2016 को जे. जयललिता ने अपनी आखिरी सांस ली।

जयललिता जी की फोटो तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री

तो आइए जानते है उनके अभिनेत्री से राजनीतिक जीवन के बारे में।

जयललिता जीवनी जीवन परिचय in hindi

पूरा नाम (full name)जयललिता जयराम (jailalita jairam)
पिताजी का नाम (father’s name)स्वर्गीय श्री जयराम ( jairam)
माता का नाम (mother’s name)स्वर्गीय संध्या जयराम (sandhya jairam)
जन्म ( date of birth)24 फरवरी 1948
मृत्यु (date of death)5 दिसंबर 2016
जन्म स्थान (birth place)मंडिया, मैसूर कर्नाटक (masiur, karnatka)
मृत्यु स्थान (death place)चेन्नई, तमिलनाडु, भारत (chainnai, india)
राजनीतिक दल (political party)ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (AIADMK)
जाति /धर्म (caste/religion)ब्रह्मण / हिंदू (hindu)
कब कब मुखमंत्री बनी 12 मई 1996, 21 सितंबर 2001, 12 मई 2006, 27 सितंबर 2014, 5 दिसंबर 2016
उपनाम (nickname)अम्मा, थलाइवी, पुराची, थंगा थंगराई (thalaivi), (Thanga tharagai)
पति का नाम (husband’s name)शादी नही की (not married)
पेशा (profession)राजनीतिज्ञ, नृतिका, स्क्रिप्ट लेखक (politicia, actor, writer)
मौत का कारण (cause of deathदिल का दौरा पड़ने से जयललिता जी का निधन हो गया (from a heart attack)
बच्चे (Children)एक गोद लिया था (वीएन सुधाकरन )

जयललिता की मौत कैसे हुई?

5 दिसंबर 2016 को सीएम जयललिता की मौत हुई, चेन्नई के अपोलो अस्पताल में जयललिता की मृत्यु हो गई लेकिन उनकी मृत्यु उनके पीछे काफी राज छोड़ गई, वैसे तो उनकी मृत्यु दर का दौरा पड़ने से बताई जाती है लेकिन उनकी पार्टी और उनके करीबियों का मानना है, की जयललिता से अस्पताल में किसी को मिलने नही दिया जाता था उनसे मिलने वाली एक मात्र शख्स शशिकला ही थी।

जयललिता लव स्टोरी

जयललिता के कथित प्रेमी का नाम एमजी रामचंद्रन बताया जाता है, लेकिन वो एक बार उनसे रूष्ट हो गई और तेलगु सिनेमा के सुपर स्टार शोभन बाबू के पास गई और उन्हें शादी के लिए कहा लेकिन शोभन बाबू नही माने। और एक बार फिर एमजी रामचंद्रन और जयललिता एक साथ हो गए लेकिन उनका ये कथित प्यार परवान ना चढ़ सका।

जयललिता ने क्यों नही की शादी

बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में जयललिता ने बताया की उनको अपने जीवन के लिए को अच्छा साथी नही मिला। लेकिन उनके प्यार के चर्चे न्यूज वेबसाइट पर चलते रहते है। वो तेलगु फिल्म स्टार शोभन बाबू से शादी करना चाहती थी लेकिन शोभन बाबू के मना जाने के बाद उनको अपने जीवन में कोई सच्चा साथी नही मिला और उन्होंने एक दमदार महिला के रूप में तमिलनाडु की राजनीति में कदम रखा।

जयललिता की कहानी

क्यों कहा जाता है जयललिता को थलाइवी

थलाइवी शब्द थाला शब्द का स्त्रीलिंग है, दक्षिण भारत में थाला का अर्थ होता है अपने खेल में सर्वश्रेष्ठ यानी चैन्नाई में महेंद्र सिंह धोनी को थाला कहा जाता है। क्योकी वो भारत के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक है। इस ही तमिलनाडु की राजनीति में सबसे सफल राजनीतिज्ञ में से एक जयललिता को थलाइवी कहा जाता है उन्होंने न सिर्फ फिल्मों में बल्कि राजनीति से भी लोगो के दिलो में छप छोड़ी है इसलिए ही इनपर अबतक 2 बायोपिक बन चुकी है जिनमे से एक दक्षिणी फिल्म निर्माता टॉलीवुड और अब बॉलीवुड ने उनकी बायोपिक बनने वाली है।

जयललिता का प्रारंभिक जीवन

कर्नाटक के मैसूर जिले में 24 फरवरी 1948 को जन्मी जयललिता एक दक्षिणी भारत आयंगर परिवार से संबंधित है जब वो 2 साल की थी तब उनके पिताजी का निधन हो गया और उनकी मां ने ही उनका बचपन में पालन पोषण किया और उनको सफलता की बुलंदियों तक पहुंचाया। कुछ ही दिन बाद जयललिता ने तमिल फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया और देखते बाई देखते वो हिंदी तमिल तेलगु और अंग्रेजी फिल्मों में काम किया और एक सफल अभिनेत्री के रूप में उभरी। इसी के कारण उनको थलाइवी कहा गया। और तमिलनाडु की राजनीति में सफल योगदान के कारण जयललिता को अम्मा भी कहा जाता था अम्मा का अर्थ होता है मां वो अपनी प्रजा का मां की तरह खयाल रखती थी। उनकी लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है की लोगो ने उनको एक दो बार नही बल्कि 6 बार तमिलनाडु की सीएम के रूप में चुना।

जयललिता का राजनीतिक जीवन

  • 1982 में जयललिता ने ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम पार्टी ज्वाइन कर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की।
  • 1983 में जयललिता को अन्ना दमरूक पार्टी का प्रोपगेंडा सेकेट्री बनाया गया।
  • 1984 से 1989 तक अम्मा राज्यसभा की सदस्य रही।
  • जयललिता की राजनीति में मोड़ तब आया जब एमजी रामचंद्रन की 1987 में मृत्यु हो गई और उन्होंने जानकी रामचंद्रन की जगह अपने आप को उनका उत्तराधिकारी घोषित कर लिया।
  • और 1989 में ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम ने 28 सीटे जीती और जयललिता जयराम एक विरोधी नेता के रूप में उभरी।
1989जीतविधानसभापार्टी से पहला चुनाव था।
1991जीतविधानसभादूसरी बार विधायक बनी और मुख्यमंत्री बनी
1996हारविधानसभातीसरी बार मुख्यमंत्री बनी।
2002जीतविधानसभाजयललिता जयराम चौथी बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनी।
2006जीतविधानसभाराजनीति में एक थलाइवी के रूप में उभरी।
2011जीतविधानसभाराजनीति में रहते हुए अम्मा नाम से कई योजनाएं चलाई।
2015जीतविधानसभालगातार जीतती चली गई jailalitha jairam
2016जीतविधानसभा
1984जीतलोकसभाये इनका पहला विधानसभा चुनाव था।

जयललिता का फिल्मी जीवन

जयललिता के बारे में रोचक तथ्य

जयललिता के विवादित मामले

जयललिता को मिले सम्मान और पुरुस्कार

कलीममणी पुरस्कार1972 में तमिलनाडु सरकार द्वारा दिया गया।
डॉक्टर ऑफ लिटरेचर उपाधि 1991 में मद्रास विश्वविद्यालय द्वारा दिया गया।
डॉक्टर ऑफ साइंस उपाधि1992 में एमजीआर मेडिकल यूनिवर्सिटी द्वारा।
डॉक्टर ऑफ लेटर उपाधि1993 में मदुरई कामराज विश्वविद्यालय द्वारा दिया।
डॉक्टर ऑफ साइंस एक बार फिर2003 में तमिलनाडु के कृषि विश्वविद्यालय में दिया गया।
वूमेन पॉलिटिशियन ऑफ द डिकेड पुरुस्कार2004 में हाउस ऑफ लॉर्ड्स ने दिया।
गोल्डन स्टार पुरुस्कार 2004 में दिया गया।
पट्टिकाडा पट्टनामा तमिल पुरुस्कार तमिल फिल्मों में शानदार अदाकारी के चलते उन्हें ये पुष्कर दिया गया।
फिल्म फेयर पुरुस्कारकई बार उन्होंने फिल्म फेयर अवार्ड भी जीता।
बेस्ट एक्टर पुरुस्कार1972 में तमिल फिल्म कृष्ण के लिए।

कंगना राणावत की थलाइवी मूवी जयललिता की बायोपिक

कंगना राणावत से पहले जयललिता पर टॉलीवुड ने भी एक फिल्म बनाई थी जिसका नाम भी थलाइवी था, लेकिन उनके जीवन पर एक और फिल्म बनने जा रही है जिसमे मुख्य भूमिका में बॉलीवुड की कंगना राणावत होगी ये फिल्म 10 सितंबर 2021 को रिलीज होने वाली है। आप इस फिल्म को 10 सितम्बर को देख सकते है। कंगना रनौत ने जयललिता को थलाइवी बायोपिक बनाने के लिए तमिल भाषा भी सीखी थी और वो इस किरदार को निभाकर काफी खुश नजर आ रही है।

जयललिता की जाति क्या है? और उनका धर्म क्या है?

जयललिता दक्षिणी भारत की ब्रह्मण हिंदू परिवार से संबंधित थी उनके पिताजी का नाम जयराम और माताजी का नाम संध्या जयराम था।

जयललिता के पति का नाम और उनके बच्चे

कर्नाटका की पूर्व मुख्यमंत्री और टॉलीवुड अभिनेत्री जयललिता ने शादी नही की थीं लेकिन उनका एक बच्चा था जिसको उन्होंने गोद लिया था, जिसका नाम वीएन सुधाकरन है और वो भी तमिलनाडु की राजनीति में सक्रिय है।

Ram Singh Rajpoot

Recent Posts

मोटो जी32 रिव्यू, प्राइस, स्पेसिफिकेशन्स & फीचर्स | Motorola Moto G32 Review, Price, Specifications & Features In Hindi India

मोटो जी32 रिव्यू | Moto G32 Review In Hindi कंपनी क्या दावा करती है Moto…

3 hours ago

रक्षाबन्धन 2022 – इतिहास, महत्व, निबंध, शुभकामनाएं और भाषण | Raksha Bandhan – 11 August 2022 History, Significance, Essay, Speech & Wishes Photo In Hindi

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) भारतीय उपमहाद्वीप में मनाया जाने वाला एक त्यौहार है। इस भाई बहन…

2 days ago

Nothing Phone 1 Review: ये लोग गलती से भी ना खरीदें नथिंग फोन 1 देखें रिव्यू

Nothing Phone 1 Review In Hindi: नथिंग का ये फोन जब से बाज़ार में आया…

6 days ago