त्योहार

होली 2023 कब है? जानें इतिहास, महत्व, निबंध, भाषण, शुभकामनाएं और होलिका दहन शुभ मुहूर्त | Holi 2023 Date, History, Importance, Essay, Speech & Best Wishes In Hindi Shubh Muhurt

Holi 2023: होली का पर्व भारत में हिन्दू पंचाग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। यह वसंत ऋतु में मनाया जाने वाला त्योहार आजकल भारत के अलावा अन्य देशों जैसे: पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, भूटान, ऑस्ट्रेलिया, अमरीका, कनाडा और यूरोप में भी मनाया जाता है। आज हम इस लेख में आपको बताएंगे की होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, इतिहास, महत्व और शुभकामनाएं साथ में स्कूल कॉलेज के छात्रों को होली 2023 पर निबंध, भाषण सभी जानकारी इस लेख में मिलेंगी।

होली 2023 कब है? जानें होली कब और कैसे मनाई जाती है जानें इसका इतिहास, महत्व और शुभकामनाएं भाषण, निबंध | Holi 2023 Date: History, Significance, Essay, Speech, Wishes In Hindi
त्योहार का नाम (Name Of Festival)होली 2023
धार्मिक अनुयायी हिंदू (आजकल सभी धर्म के लोग हर्षोल्लास के साथ मनाते है)
उद्देश्य (Objective)पौराणिक धार्मिक निष्ठा, उत्सव मनाना और मनोरंजन करना
कैसे मनाते हैएक दूसरे पर रंग डालना, गाना बजाना करना, हुडदंग मचाना
तिथि फाल्गुन मास की पूर्णिमा
होली 2023 में किस तारीख को है8 मार्च 2023

होली 2023 कब है जानें तिथि और शुभ मुहूर्त (Date)

इस बार लोग सर्च कर रहे है की Holi Kab Hai 2023 क्योंकि इस बार भी होलिका की तिथि दो तारीख में पड़ रही है। क्योंकि इस बार होली 8 मार्च 2023 की है और होलिका दहन 7 मार्च को शाम 7:30 से 9 बजे तक रहेगा बाकी आप अपने हिसाब या नजदीकी पंडित से पूंछ लें।

होली के इतिहास की कहानी | Holi History In Hindi

होली को लेकर भारतीय जनमानस में अनेक कहानियां प्रचलित हैं जिनमें सबसे पुरानी कहानी हैं भगत प्रहलाद को लेकर कहां जाता है कि प्राचीन काल में हिरण्यकशिपु नाम का एक असुर हुआ करता था वह अत्यंत बलशाली था और उसने अपने बल के घमंड में खुद को ही ईश्वर समझना शुरू कर दिया और अपने राज्य में ईश्वर की पूजा पर रोक लगा दी लेकिन उसका पुत्र प्रह्लाद भगवान श्री विष्णु जी का भक्त था। हिरण्यकशिपु ने अपने पुत्र प्रह्लाद को रोकने के लिए कई जतन किए लेकिन उसका पुत्र भक्ति के मार्ग से नहीं हटा फिर उसने अपनी बहन होलिका को बुलाया और कहा कि प्रह्लाद को गोद में लेकर आग में बैठ जाए क्योंकि होलिका को वरदान प्राप्त था कि वह आदमी नहीं चल सकती लेकिन जैसे ही वह प्लाट को लेकर आग में बैठी वह खुद जल गई और प्रह्लाद बच गया उसी दिन से आज तक भारतीय हिंदू इस त्यौहार को होलिका दहन के रूप में मनाते हैं।

होली को लेकर एक और प्रचलित कथा: प्राचीन काल में होली को होलका कहा जाता था इस दिन आर्य नवात्रैष्टि यज्ञ करते थे और प्रसाद लेते थे। इस दिन नए अन्न का भाग पहले देवताओं को अर्पित किया जाता था और उसे आधा पका और कच्चा रखकर प्रसाद ग्रहण करते थे। यह पर्व वैदिक काल से ही मान्य जाता है सिंधु घाटी सभ्यता में भी इसके अवशेष मिलते है।

इस दिन भगवान शिव ने कामदेव को भस्म करने के बाद जीवित किया था इसलिए होली को काम महोत्सव भी कहा जाता है।

होली का महत्व | Holi Significance In Hindi

होलिका जैसे ही जली और प्रह्लाद को अग्नि छू तक न सकी उसके बाद से ही इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है।

पहले के समय में लोग इस दिन अपने पुराने पूरे साल के मतभेद भूल जाते थे और एक हो जाते थे खासकर राजपूत इस त्यौहार के दिन एक हो जाते है।

इस दिन भारतीय परंपरा के अनुसार गेहूं की बालियां होलिका दहन के समय आग में सेकी जाती है और उनको खाया जाता है जिससे पहला भगवान को भाग लग जाता है फिर अन्न हमारे खाने लायक हो जाता है और हम उसे प्रसाद के रूप में ग्रहण करते है।

होलिका दहन के बाद भारतवर्ष में नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है और सकारात्मक ऊर्जा से घर, खेत और देश भर जाता है।

होली पर निबंध | Holi Essay In Hindi 100, 200, 500, 1000, 1500 Words

होली रंगों का एक ऐसा त्योहार है जिसे हर धर्म और देश के लोग बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। यह त्योहार जाति धर्म और देश से बढ़कर एक होकर भाईचारे का संदेश देता है।

आप निबंध के प्रस्तावना में यह लिख सकते हैं और बाकी जो आपने ऊपर पढ़ा उसे भी आप जरूर लिखे होली के बारे में मुख्य मुख्य चीजे पढ़ ले और उसे निबंध में लिखना ना भूलें।

अंत में सबसे बढ़िया बात आपको निबंध के उपसंहार में लिखनी चाहिए जिसे पढ़कर आपको ज्यादा नंबर मिले और आपका निबंध अच्छा भी लगे।

अगर आप एक स्टूडेंट है या सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें है तो आपको नीचे दिए गए लिंक से हमारा टेलीग्राम चैनल जरूर ज्वाइन करना चाहिए।

सरकारी नौकरी और योजनाओं की खबरों का टेलीग्राम चैनल

होली 2023 पर भाषण | Holi Speech In Hindi

होली 2023 पर भाषण देने से पहले आप स्टेज पर जाते ही सबका अभिवादन करें अपने से बड़ों का और छोटो का भी।

उसके बाद आप भाषण के कुछ प्वाइंट बना लें और उनको अच्छे से याद करें मैने आपको ऊपर लेख में बहुत जानकारी ली है जिनमे से छांटकर आपको प्वाइंट बना लेने है और रौबदार आवाज में उनको बोलना है।

अंत में गलतियों के लिए क्षमा मांगे और अपना भाषण देवताओं के जयकारों के साथ शुरू करने के साथ जयकारों के साथ ही खत्म करें।

होली 2023 की हार्दिक शुभकामनाएं फोटो | Holi 2023 Best Wishes In Hindi Photos

होली 2023 की हार्दिक शुभकामनाएं फोटो | Holi 2023 Best Wishes In Hindi Photos
होली 2023 की हार्दिक शुभकामनाएं फोटो | Holi 2023 Best Wishes In Hindi Photos
होली 2023 की हार्दिक शुभकामनाएं फोटो | Holi 2023 Best Wishes In Hindi Photos
होली 2023 की हार्दिक शुभकामनाएं फोटो | Holi 2023 Best Wishes In Hindi Photos

यह भी पढ़े

Ram Singh Rajpoot

Recent Posts

Uttrakhand News: उत्तराखंड हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस रितु बाहरी का जीवन परिचय

Ritu Bahri Biography In Hindi: ऋतु बाहरी को हाल ही में उत्तराखंड हाई कोर्ट की…

4 months ago

Up Board 12th Time Table 2024 | यूपी बोर्ड 12वी टाइम टेबल 2024 हुआ जारी यहां चेक करें upmsp.edu.in

यूपी बोर्ड 12वीं का टाइम टेबल 2024 अभी तक जारी नही हुआ है लेकिन आप…

4 months ago