festival

करवा चौथ 2022: इतिहास, पूजन विधि, महत्व, व्रत कथा, मंत्र, शुभ मुहूर्त, नियम और तिथि | Karva Chauth 2022, History, Story, Date, Importance & Vrat Niyam In Hindi

करवा चौथ दो शब्दों से मिलकर बना है जिसमें करवा अर्थात मिट्टी का बर्तन और चौथ यानी चतुर्थी इस दिन भारत में आपको चासनी से बने करवे का बहुत महत्व होता है। यह त्योहार पति और पत्नी के बीच प्यार मोहब्बत का प्रतीक है।

करवा चौथ 2022: इतिहास, पूजन विधि, महत्व, व्रत कथा, मंत्र, शुभ मुहूर्त, नियम और तिथि | Karva Chauth 2022, History, Story, Date, Importance & Vrat Niyam In Hindi

करवा चौथ तिथि

करवा चौथ का व्रत भारत में हिंदू सुहागिन औरतों द्वारा मनाया जाता है सुहागिन औरतें कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को सुबह 4 बजे से लेकर रात में चंद्रदर्शन तक व्रत रखती है।

करवा चौथ 2022 कब है? | Karva Chauth 2022 Date

करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर 2022 को मनाया जायेगा क्योंकि हिंदू कैलेंडर के अनुसार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष चतुर्थी इसी दिन पड़ेगी।

करवाचौथ व्रत 2022 शुभ मुहूर्त | Karva Chauth Fast 2022 Auspicious Time In Hindi

करवा चौथ व्रत पूजा करने के लिए शुभ मुहूर्त 13 अक्टूबर को शाम 5:50 मिनट से 6:50 मिनट तक है आप आराम से एक घंटे तक पूजा कर सकती है साथ में आप सच्चे मन से पूजा करें।

करवा चौथ जानकारी

नाम करवा चौथ और करक चतुर्थी
धर्म हिंदू (भारतीय)
उद्देश्य पति की उम्र बढ़ने और रक्षा का सौभाग्य
तिथिकार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी
तारीख (Date)13 अक्टूबर 2022

करवा चौथ व्रत करने के नियम | Rules for observing Karva Chauth fast In Hindi

  • करवा चौथ का सबसे पहला नियम यह व्रत आपको सूर्योदय से लेकर शाम को चंद्रमा निकलने तक करना है।
  • कई जगह सूर्योदय से पहले खाना खा लेते है जिससे उनका दिन आसानी से निकल सकें।
  • महिलाओं को इस दिन पीले और लाल वस्त्र ही पहनने चाहिए ना की काले और सफेद तो बिलकुल ना पहनें।
  • कई औरतें इस व्रत को निर्जला भी रखती है लेकिन अगर आपको किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या है तो आप कथा सुनने के बाद पानी ग्रहण कर सकती है।
  • महिलाओं को इस दिन अच्छे से नहा धोकर सोलह श्रृंगार करना चाहिए।
  • चौथ माता की कहानी सुनते समय आप साथ ने साबुत अनाज और कुछ मीठा साथ में रख लेवें।
  • इसमें आप को चंद्र भगवान को अर्घ्य देने के बाद अपने पति का मुख देखना चाहिए उसके बाद उनका आशीर्वाद लेना चाहिए।
  • बाकी आप अपने गांव या मोहल्ले के रीति रिवाजों के अनुसार ही व्रत रखें वो सबसे सही रहेगा।

करवा चौथ व्रत रखने का उद्देश्य | Purpose of keeping Karva Chauth fast In Hindi

  • पत्नियां अपने पति की लंबी आयु के लिए इस दिन व्रत रखती है।
  • दैनिक जीवन में देखा जाए तो करवा चौथ के व्रत का उद्देश्य पति – पत्नी के वैवाहिक में आपसी सहयोग और प्रेम पैदा करने का है।
  • महिलाएं पूरा दिन भूखी प्यासी रहकर अपने पति के प्रति समर्पण भाव के साथ प्रेम दिखाती हैं वही पति भी बाद में अपने हाथ से पानी पिलाकर उसे अपने प्रेम का अनुभव करवाता है।
  • हालांकि कई जगह अविवाहित लड़कियां भी अपना मनचाहा पति पाने के लिए यह व्रत रखती है लेकिन विवाहित महिलाओं के लिए करवा चौथ व्रत बहुत महत्वपूर्ण है।

करवा चौथ व्रत कथा | Karva Chauth Vrat Katha

  • Karva Chauth Kahani: तुंगभद्रा नदी के किनारे देवी करवा अपने पति के साथ रहती थी। जैसे ही एक दिन करवा के पति स्नान ध्यान के लिए नदी में गए उनके पति को एक मगरमच्छ ने पकड़ लिया और अंदर नदी में ले जाने लगा।
  • जैसे ही करवा ने देखा की मगरमच्छ उनके पति को मारने वाला है उन्होंने एक कच्चा धागा लिया और मगरमच्छ को पेड़ से बांध दिया।
  • करवा एक सतीत्व की देवी थी जिसके कारण उनके कच्चे धागे से ही मगरमच्छ हिल भी नहीं पाया।
  • इसके बाद देवी करवा ने यमराज का आव्हान किया और उन्हें कहा की मगरमच्छ के प्राण ले लो और मेरे पति को जीवनदान दो। तो यमराज ने देवी करवा से कहा ऐसा नही हो सकता क्योंकि आपके पति की आयु समाप्त हो चुकी है और मगरमच्छ का जीवनकाल अभी बाकी है।
  • लेकिन यमराज के ऐसा कहने से देवी करवा क्रोधित हो गई और उन्होंने कहा कि अगर आपने ऐसा नहीं किया तो मैं आपको श्राप दे दूंगी।
  • देवी करवा के श्राप से बचने के लिए यमराज नहीं तुरंत मगरमच्छ के प्राण हरे और उनके पति को जीवनदान दिया।
  • वह दिन कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तबसे लेकर आजतक इस दिन सुहागिन औरतें करवा चौथ का व्रत रखती है और प्रार्थना करती है की हे देवी करवा जैसे आपने अपने पति की रक्षा की वैसे ही मेरे पति की भी रक्षा करना।
  • जिस कच्चे धागे से करवा देवी ने मगरमच्छ को बांधा था वो वट वृक्ष था जिसके कारण औरतें वट वृक्ष पर कच्चा धागा बांध देती है।

करवा चौथ का इतिहास | Karva Chauth History In Hindi

  • एक बार की बात है जब देवताओं और दानवों में युद्ध शुरू हो गया उसके बाद सभी देवी देवता दानवों से रक्षा के लिए ब्रह्मदेव के पास गए।
  • जब ब्रह्मदेव ने देवताओं को उपाय बताया की सभी देवियों को अपने पतियों के लिए सच्चे मन से व्रत रखना चाहिए और विजय के लिए प्रार्थना करनी चाहिए।
  • सभी देवियों ने ऐसा ही किया उन्होंने कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष चतुर्थी को यह व्रत रखा और देवताओं की विजय हुई।
  • उसके बाद देवियों ने खाना खाकर अपना व्रत खोला जब उन्होंने खाना खाया तब चंद्र देव निकल आए और तबसे ही चांद देखकर व्रत खोलने की परंपरा बनी।

करवा चौथ माता की आरती और मंत्र | Aarti and Mantra of Karva Chauth Mata In Hindi

करवा चौथ माता की आरती

ओम जय करवा मैया, माता जय करवा मैया। जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया।। ओम जय करवा मैया।
सब जग की हो माता, तुम हो रुद्राणी। यश तुम्हारा गावत, जग के सब प्राणी।।
ओम जय करवा मैया, माता जय करवा मैया। जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया।।
कार्तिक कृष्ण चतुर्थी, जो नारी व्रत करती। दीर्घायु पति होवे , दुख सारे हरती।।
ओम जय करवा मैया, माता जय करवा मैया। जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया।।
होए सुहागिन नारी, सुख संपत्ति पावे। गणपति जी बड़े दयालु, विघ्न सभी नाशे।।
ओम जय करवा मैया, माता जय करवा मैया। जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया।।
करवा मैया की आरती, व्रत कर जो गावे। व्रत हो जाता पूरन, सब विधि सुख पावे।।
ओम जय करवा मैया, माता जय करवा मैया। जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया।।

करवा चौथ व्रत मंत्र

ॐ शिवायै नमः – पार्वती देवी का मंत्र
ॐ नमः शिवाय – शिवजी का मंत्र
ॐ षण्मुखाय नमः – महादेव जी और पार्वती जी के पुत्र कार्तिकेय जी का मंत्र
ॐ गणेशाय नमः – श्री गणेश जी का मंत्र
ॐ सोमाय नमः – चंद्रमा भगवान का मंत्र

डिस्क्लेमर

यहां दी गई जानकारी मान्यताओं के आधार पर है और ऑनलाइन इकट्ठा की गई जानकारी है हम इसकी सत्यता की गारंटी नहीं लेते है। हमने आपतक बस सूचना पहुंचाई है हो सकता है ये सत्य ना हो।

लेखक, JodhpurNationalUniversity.com

यह भी पढ़े

Ram Singh Rajpoot

Recent Posts

UP Scholarship छात्रवृत्ति के लिए पात्रता, दस्तावेज, लास्ट डेट और फॉर्म Apply करने का तरीका

UP Scholarship Scheme 2022: उत्तर प्रदेश राज्य सरकार गरीब और पिछड़े वर्ग के बच्चों को…

18 hours ago

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा 2022 का एडमिट कार्ड हुआ जारी ये रहा डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक | CTET Admit Card 2022 Download Direct Link (ctet.nic.in)

CTET Admit Card 2022: राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) दिसंबर माह में ही सीटीईटी एडमिट कार्ड…

1 day ago

HP TET Admit Card 2022: हिमाचल प्रदेश टीईटी का एडमिट कार्ड हुआ जारी यहां से करें Download ये रहा Direct Link (hpbose.org)

एचपी टीईटी नवंबर 2022 एडमिट कार्ड आज जारी हो गए है सभी अभ्यर्थी हिमाचल प्रदेश…

2 days ago

शेर-ए-बांग्ला राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पिच रिपोर्ट, मौसम और आंकड़े | Sher-E-Bangla National Cricket Stadium Pitch Report, Weather Forecast, Records In Hindi

Sher-E-Bangla National Cricket Stadium Pitch Report: शेर-ए-बांग्ला राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बांग्लादेश का एक क्रिकेट मैदान…

2 days ago

एमपी मुख्यमंत्री युवा इंटर्नशिप योजना जानें पूरी जानकारी, पात्रता, उद्देश्य और आवेदन करने का तरीका

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार युवाओं के विकास के लिए युवा इंटर्नशिप योजना…

3 days ago