festival

निर्जला एकादशी व्रत 2022 कथा, मुहूर्त तिथि, पूजा विधि, मंत्र, आरती, महत्व | Nirjala Ekadashi Vrat 2022 Katha, Muhurt Tithi, Mahatva, Pooja Vidhi Mantra, Aarti In Hindi

Nirjala Ekadashi Vrat 2022: हिंदू धर्म कैलेंडर के अनुसार ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी कहा जाता है। इस बार 2022 में Nirjala Ekadashi Vrat Date(तिथि) 10 जून 2022 को 7 बजकर 30 मिनट से 11 जून 2022 को 5 बजकर 30 मिनट तक रहेगी। इस एकादशी व्रत में पानी पीना भी वर्जित माना गया है, इसलिए इसे निर्जला एकादशी कहा जाता है।

निर्जला एकादशी व्रत मुहूर्त तिथि 2022 | nirjala ekadashi Muhurt Tithi 2022

व्रत का नाम निर्जला एकादशी 2022 (Nirjala Ekadashi 2022)
अनुयाईसभी भारतीय और मुस्लिम जो हिंदू से परिवर्तित हुए है
उद्देश्य आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है
तिथि (Tithi) मलमास(ज्येष्ठ) की शुक्ल एकादशी
भारत में समय (DATE & TIME IN INDIA)10 जून 2022 को 7 बजकर 30 मिनट से 11 जून 2022 को 5 बजकर 30 मिनट
विशेषता पानी नही पिया जाता

निर्जला एकादशी व्रत कथा | nirjala ekadashi fasting story in hindi

पांडव एकादशी या भीमसेनी एकादशी नाम पड़ने की कहानी

निर्जला एकादशी मंत्र | Nirjala Ekadashi mantra in hindi

भारत भर में एकादशी का व्रत किया जाता है जिसमे भगवान विष्णु की पूजा की जाती है और निर्जला के साथ आप सभी एकादशियों पर ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नामक मंत्र का जप किया करें और भगवत गीता जरूर पढ़े।

निर्जला एकादशी पूजा विधि | Nirjala Ekadashi pooja vidhi in Hindi

  • निर्जला एकादशी के व्रत को पुरुष और स्त्री दोनों कर सकते हैं।
  • इस व्रत में आपको भगवत गीता का पाठ करना चाहिए और कम से कम एक भगवत गीता दूसरे व्यक्ति को जरूर दें और उसे पढ़ने के लिए कहें।
  • ओम नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करते हुए आपको सभी लोगों को पानी पिलाना चाहिए।
  • सभी धर्मों के लोगों को भगवत गीता का वितरण करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है।

निर्जला एकादशी व्रत महत्व | NIRJALA EKADASHI VRAT MAHATVA in Hindi

निर्जला एकादशी का व्रत करने से आपको साल भर होने वाली 23 एकादशी ओं का व्रत करने की इतनी खास आवश्यकता नहीं रहती। इससे आपको यश धन-दौलत और आपके मनोकामना की पूर्ति होती है।

निर्जला एकादशी व्रत आरती | Nirjala Ekadashi vrat aarti

  • देवोत्थानी शुक्लपक्ष की, दुखनाशक मैया। पावन मास में करूं विनती पार करो नैया॥
  • परमा कृष्णपक्ष में होती, जन मंगल करनी। शुक्ल मास में होय पद्मिनी दुख दारिद्र हरनी॥
  • जो कोई आरती एकादशी की, भक्ति सहित गावै। जन गुरदिता स्वर्ग का वासा, निश्चय वह पावै॥

Nirjala Ekadashi FAQ

निर्जला एकादशी आरती और महत्व हिंदी में?

आपको 2022 में आने वाली निर्जला एकादशी की संपूर्ण जानकारी जोधपुर नेशनल यूनिवर्सिटी डॉट कॉम वेबसाइट पर मिल जाएगी।

निर्जला एकादशी 2022 तिथि और शुभ मुहूर्त का समय?

इसकी जानकारी आपको जोधपुर नेशनल यूनिवर्सिटी डॉट कॉम वेबसाइट पर मिल जायेगी।

यह लेख भी पढ़े
Ram Singh Rajpoot

Recent Posts

RBSE 5th Result 2022: जारी होने में कुछ समय ऐसे करें चेक? | 5वीं बोर्ड रिजल्ट राजस्थान, अजमेर (RajeduBoard.Rajasthan.Gov.In)

Ajmer Board Rajasthan 5th Result 2022 Name Or Roll Number Wise RajeduBoard.Rajasthan.Gov.In: राजस्थान बोर्ड, अजमेर…

2 days ago

राजा राम मोहन राय जयंती 2022, निबंध, भाषण रोचक तथ्य

Raja Ram Mohan Roy Jayanti 2022 Essay In Hindi UPSC: राजा राम मोहन राय का…

1 week ago

REET 2022 के बाद होने वाली शिक्षक भर्ती परीक्षा जनवरी 2023 में होना प्रस्तावित

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, राजस्थान, अजमेर द्वारा रीट पात्रता परीक्षा 2022 का आयोजन 23 और 24…

1 week ago

जुलाई 2022 में रीट का पेपर भी लीक होगा जानें किरोड़ी लाल मीणा ने ऐसा क्यों कहा

राजस्थान बीजेपी सरकार में मंत्री रहे किरोड़ी लाल मीणा ने कहा की रीट 2022 का…

1 week ago

क्या है पूजा स्थल अधिनियम 1991 | क्या ज्ञानवापी मस्जिद को तोड़कर मंदिर बनाया जा सकता है?

Place Of Worship Act 1991चर्चा में क्यों ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने में शिवलिंग मिला है…

1 week ago