लेख | Article

भारतीय सेना को मिले एके-203, एफ-इंसास और निपुण जानें इन खास हथियारों से क्यों घबरा रहे चीन और पाकिस्तान

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय सेना को एफ-इंसास, निपुण और लैंडिंग क्राफ्ट असॉल्‍ट जैसे घातक स्वदेशी हथियार दिए हैं जिनसे भारतीय सेना की ताकत और बढ़ गई है साथ में चीन और पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ गई है।

भारत के इन स्वदेशी घातक हथियारों से चीन और पाकिस्तान नही बच पाएंगे
  • यह नए हथियार भारतीय स्वदेशी कंपनियों द्वारा ही बनाए गए है।
  • इन हथियारों से भारतीय सेना लद्दाख से लेकर राजस्थान के थार के रेगिस्तान तक दुश्मन देश (पाकिस्तान, चीन) को हरा सकती है।

F-INSAS क्या है?

  • एफ-इंसास का पूरा नाम (Full Form) फ्यूचर इन्फैंट्री सोल्जर ऐज अ सिस्टम (Future Infantry Soldier As A System) है।
  • यह सिस्टम थल सैनिकों के लिए बनाया गया है इससे इन सैनिकों की कार्य क्षमता बढ़ेगी।
  • यह हर मौसम में काम करने वाले और रखरखाव में आसान और काम खर्चीले है।
भारतीय सेना के फ्यूचरिस्टिक इन्फैंट्री सोल्जर एज़ ए सिस्टम (F-INSAS) सैनिक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को उनके नए हथियार प्रणालियों और AK-203 असॉल्ट राइफल के बारे में जानकारी देते हैं।

एफ-इंसास सिस्टम के पूरे गेयर

  1. एके-203 असॉल्ट राइफल
  2. बलिस्टिक हेलमेट
  3. बलिस्टिक गॉगल्स
  4. बुलेट प्रूफ जैकेट
  5. राइफल के ऊपर होलोग्राफिक लेंस
  6. हेलमेट पर अंधेरे में देख पाने वाले उपकरण
  7. अडवांस्ड कम्युनिकेशन सिस्टम

क्या होगा फायदा

  • जवानों को अंधेरे इलाके में आसानी से ऑपरेशन अंजाम देने में आसानी होगी साथ में कम्युनिकेशन में भी आने वाली दिक्कतें कम हो जाएंगी।

निपुन माइंस क्या है?

  • यह भारत में विकसित की गई बारूदी माइन है जिनसे दुश्मन सेना को आगे बढ़ने से रोका जा सकता है।
  • इन्हे इंसानों के खिलाफ भी इस्तेमाल।किया जा सकता है इसी कारण इनको ऐंटी पर्सनेल माइंस भी कहा जा रहा है।
  • निपुण माइंस आकार में बहुत छोटे है इसी कारण इन्हें एक सैनिक काफी संख्या में बिछा सकता है।

फायदे

  • यह बहुत ही हल्के हैं इन्हें राजस्थान के इलाके में आसानी से बचाया जा सकता है और पाकिस्तान को करारा जवाब दिया जा सकता है।

लैंडिंग क्राफ्ट असॉल्ट क्या है?

  • LCA का पूरा नाम लैंडिंग क्राफ्ट असॉल्ट है, यह नावों की जगह गश्त करने के काम आएंगी।
  • लैंडिंग क्राफ्ट असॉल्ट (LCA) को एक्वेरियस शिप यार्ड लिमिटेड नामक कंपनी ने बनाया है।
  • 35 तक सैनिकों को लेकर एलसीए किसी भी झील के कोने तक जा सकती है।
भारतीय सेना ने आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चीन के साथ एलएसी पर बल द्वारा पैंगोंग झील में तैनात लैंडिंग क्राफ्ट असॉल्ट की क्षमता का प्रदर्शन किया।

यह भी पढ़े

Ram Singh Rajpoot

Recent Posts

UP Scholarship छात्रवृत्ति के लिए पात्रता, दस्तावेज, लास्ट डेट और फॉर्म Apply करने का तरीका

UP Scholarship Scheme 2022: उत्तर प्रदेश राज्य सरकार गरीब और पिछड़े वर्ग के बच्चों को…

15 hours ago

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा 2022 का एडमिट कार्ड हुआ जारी ये रहा डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक | CTET Admit Card 2022 Download Direct Link (ctet.nic.in)

CTET Admit Card 2022: राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) दिसंबर माह में ही सीटीईटी एडमिट कार्ड…

1 day ago

HP TET Admit Card 2022: हिमाचल प्रदेश टीईटी का एडमिट कार्ड हुआ जारी यहां से करें Download ये रहा Direct Link (hpbose.org)

एचपी टीईटी नवंबर 2022 एडमिट कार्ड आज जारी हो गए है सभी अभ्यर्थी हिमाचल प्रदेश…

2 days ago

शेर-ए-बांग्ला राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पिच रिपोर्ट, मौसम और आंकड़े | Sher-E-Bangla National Cricket Stadium Pitch Report, Weather Forecast, Records In Hindi

Sher-E-Bangla National Cricket Stadium Pitch Report: शेर-ए-बांग्ला राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बांग्लादेश का एक क्रिकेट मैदान…

2 days ago

एमपी मुख्यमंत्री युवा इंटर्नशिप योजना जानें पूरी जानकारी, पात्रता, उद्देश्य और आवेदन करने का तरीका

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार युवाओं के विकास के लिए युवा इंटर्नशिप योजना…

3 days ago