भारतीय संविधान का अनुच्छेद 5 (Article 5) भारत की नागरिकता से संबंधित है। जिसमे संविधान के लागू होते ही कौन कौन भारत का नागरिक होगा ये लिखा गया है। इसमें 3 अनुबंध है, जिन्हे पूरा करने वाला संविधान के लागू होने के बाद भारत का नागरिक होगा।

(क) जो भारत के राज्यक्षेत्र में जन्मा था, या
(ख) जिसके माता या पिता में से कोई भारत के राज्यक्षेत्र में जन्मा था, या
(ग) जो ऐसे प्रारंभ से ठीक पहले कम से कम पाँच वर्ष तक भारत के राज्यक्षेत्र में मामूली तौर से निवासी रहा है, भारत का नागरिक होगा।
अनुच्छेद 5 के अनुसार भारत की नागरिकता
Article 5 In Hindi

Latest News In Hindi

लेकिन कई बार ऐसा भी समय आता है जब इन नियमों को बदला जा सकता है भारत के संविधान ने इसका हक संसद को दिया है।

नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 का विरोध में कांग्रेस सांसद का संसद में कहना।

ये विधेयक भारतीय संविधान के अनुच्छेद 5, 10, 14 और 15 की मूल भावना का उल्लंघन करता है।

कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी

व्याख्या

अनुच्छेद 5 के अनुसार 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू होने के बाद नागरिकता का जिक्र है। तो काफी हद तक अधीर रंजन चौधरी जी का ये कहना गलत ही साबित होता है की नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 से अनुच्छेद 5 का उल्लंघन होता है।

यह भी पढ़े
Ram Singh Rajpoot

Recent Posts

Uttrakhand News: उत्तराखंड हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस रितु बाहरी का जीवन परिचय

Ritu Bahri Biography In Hindi: ऋतु बाहरी को हाल ही में उत्तराखंड हाई कोर्ट की…

4 months ago

Up Board 12th Time Table 2024 | यूपी बोर्ड 12वी टाइम टेबल 2024 हुआ जारी यहां चेक करें upmsp.edu.in

यूपी बोर्ड 12वीं का टाइम टेबल 2024 अभी तक जारी नही हुआ है लेकिन आप…

4 months ago