स्वतंत्रता दिवस – 15 अगस्त 2022 इतिहास, महत्व, निबंध, शुभकामनाएं और भाषण | Independence Day Of India – 15 August 2022 History, Significance, Essay, Wishes and Speech In Hindi

स्वतंत्रता दिवस (Independent Day) हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है। इसी दिन 1947 को भारत से ब्रिटिश शासन का अंत और स्वतंत्र भारत की स्थापना हुई थी। 100 वर्ष ईस्ट इंडिया कंपनी और 100 वर्ष ब्रिटिश क्राउन का मिलाकर 200 वर्ष अंग्रेजों ने हम भारतीयों पर राज किया लेकिन ये ही वो दिन था जब हमारे पूर्वजों ने आजादी की खुली हवा में सांस ली।

दिवस का नाम (Day Name)स्वतंत्रता दिवस (भारत) Independence Day (India)
तिथि (Date)15 August 2022
भारत कब आजाद हुआ?15 अगस्त 1947
महत्व (Significance)भारतीय स्वतंत्रता की सुनहरी याद
संबंधित त्योहार गणतंत्र दिवस, दीपावली, दशहरा
समारोह (Celebration)झंडा फहराना, आतिशबाजी करना, मिठाईयां बांटना, परेड निकालना और राष्ट्रगान का बजाना
संबंधित धर्म (Relegion)हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, यहूदी, बौद्ध (भारत में रहने वाले सभी धर्म क्योंकि आजादी का कोई धर्म नही होता आजादी सभी के लिए समान है और सभी अपने देश से बराबर ही प्यार करते है।)
15 अगस्त 2022 स्वतंत्रता दिवस आप सभी को 76 वे स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी जब "इश्क और क्रांति का अंजाम एक ही है, तो राँझा बनने से अच्छा है भगतसिंह बन जाओ। शायरी 2 ना जियो धर्म के नाम पर, •ना मो धर्म के नाम पर, इंसानियत ही है धर्म वतन का, बस जियो वतन के नाम पर वतन पर जो फिदा होगा, अमर वो हर नौजवान होगा, रहेगी जब तक दुनिया ये, अफमाना उसका बयाँ होगा। आजादी की कभी शाम ना होंगे देंगे, शहीदों की कुर्बानी बदनाम ना होने देंगे, बची है लहू की एक बूंद भी रंगों में, तब तक भारत माता का आँचल नीलाम ना होने देंगे। हर तूफान को मोड़ दे दो जो हिन्दुस्तान से टकराए, चाहे तेरा सीना हो छलनी, तिरंगा ऊँचा ही लहराए। स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं धरती सुनहरी अंबर नीला हर मौसम रंगीला, ऐसा देश है मेरा।
15 अगस्त 2022 स्वतंत्रता दिवस आप सभी को 76 वे स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी जब “इश्क और क्रांति का अंजाम एक ही है, तो राँझा बनने से अच्छा है भगतसिंह बन जाओ। शायरी 2 ना जियो धर्म के नाम पर, •ना मो धर्म के नाम पर, इंसानियत ही है धर्म वतन का, बस जियो वतन के नाम पर वतन पर जो फिदा होगा, अमर वो हर नौजवान होगा, रहेगी जब तक दुनिया ये, अफमाना उसका बयाँ होगा। आजादी की कभी शाम ना होंगे देंगे, शहीदों की कुर्बानी बदनाम ना होने देंगे, बची है लहू की एक बूंद भी रंगों में, तब तक भारत माता का आँचल नीलाम ना होने देंगे। हर तूफान को मोड़ दे दो जो हिन्दुस्तान से टकराए, चाहे तेरा सीना हो छलनी, तिरंगा ऊँचा ही लहराए। स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं धरती सुनहरी अंबर नीला हर मौसम रंगीला, ऐसा देश है मेरा।

स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त के बारे में रोचक तथ्य

  • 15 अगस्त 1947 के दिन पंडित जवाहरलाल नेहरू ने भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली।
  • भारतीय आजादी के बाद भी गोवा पुर्तगालियों उपनिवेश था जिसे 1961 में भारतीय सेना ने आजाद करा कर भारत में मिला लिया।

स्वतंत्रता दिवस का इतिहास | Independent Day History In Hindi

  • 17 वी शताब्दी की शुरुआत में अंग्रेज व्यापारी भारत में व्यापार करने के लिए आए और उन्होंने भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना की जिसने बाद में अपनी सैन्य ताकत बढ़ाकर 1757 में प्लासी का युद्ध जीतकर भारत में अपने पैर जमाना शुरू कर दिया।
  • ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने धीरे-धीरे करके संपूर्ण भारत पर अपना अधिकार जमा लिया या सभी राजाओं को अपने अधीन कर लिया।
  • भारतीय आजादी के लिए वैसे तो कई संघर्ष होते रहे लेकिन सबसे बड़ा प्रथम संघर्ष 1857 में रानी लक्ष्मीबाई, तात्या टोपे, मंगल पांडे जैसे वीरो की अध्यक्षता में हुआ। लेकिन वो असफल तो रहा फिर भी उसने अंग्रेजी शासन की नींव हिला दी थी जिसके बाद ईस्ट इंडिया कंपनी का शासन भारत से खत्म हुआ और सीधा ब्रिटिश क्राउन भारत पर शासन करने लगा।
  • लेकिन भारतीयों को ब्रिटिश शासन बिल्कुल पसंद नहीं आने लगा और उन्हें चाहिए था स्वराज जिसके लिए उन्होंने लगातार शांति और युद्ध दोनो तरीके से संग्राम जारी रखा और बाद में उनका ही नतीजा भारत को आजादी मिली लेकिन दो भागो मे बंटकर 14 अगस्त 1947 को पाकिस्तान को आजाद किया गया और 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ।
India independent British Ends The Times Of India Newspaper 15 August 1947
India independent British Ends The Times Of India Newspaper 15 August 1947

स्वतंत्रता दिवस का महत्व | Independent Day Significance In Hindi

  • स्वतंत्रता किसी भी व्यक्ति के लिए महत्व रखने वाली है और भारतीय स्वतंत्रता दिवस भी हमारे लिए उतना ही महत्व रखता है।
  • स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त 2022) के मौके पर हम सभी भारतीय आजादी का महत्व समझते हैं और उन सभी बलिदानी वीरों को याद करते हैं जिन्होंने हमारे लिए जान गंवाई।
  • सभी व्यक्तियों में देशभक्ति की भावना जागृत होती है और अपने राष्ट्रीय शहीद और प्रतिको के लिए सम्मान की भावना जागृत होती है।

स्वतंत्रता दिवस भाषण 2022 | Independent Day Speech 2022 In Hindi

  • सर्वप्रथम आप मंच पर मौजूद अपने गुरु जी या अपने से बड़ों का सम्मान में दो वाक्य बोलें।
  • स्वतंत्रता दिवस के बारे में बोले ” आज हमे आजाद हुए 76 साल होने जा रहे हैं हमे आजादी 15 अगस्त 1947 को मिली जिसपर आज मैं आपको एक भाषण देने जा रहा हूं।
  • फिर अपना भाषण शुरू करें ” हम सभी भारतीय नागरिक है और हमे भारतीय होने पर गर्व है हमारे देश जो सोने की चिड़िया कहा जाता था उसपर अनेक विदेशी आक्रमण हुए लेकिन हमने हमेशा इनपर विजय प्राप्त की ऐसे ही अंग्रेजो ने हम पर सीधा हमला नहीं किया और वह व्यापारी बनकर हमारे देश में आए और धीरे-धीरे पूरे देश में अपना शासन स्थापित कर लिया लेकिन हमारे वीर जवानों ने उन्हें कभी चैन से सांस नहीं लेने दी और हमेशा अपने देश की खारित आजादी की लड़ाई लड़ते रहे आदिवासी जंगलों से लेकर विकसित शहरों तक सभी ने आजादी अपना अपना योगदान दिया। जिनमें प्रमुख नाम जिन्हें आप सभी जानते होंगे झांसी की रानी लक्ष्मी बाई, तात्या टोपे, वीर कुंवर सिंह, मंगल पांडे और भी ऐसे अनेकों नाम है जिन्होंने आजादी के लिए अपनी जान गंवाई जिनका नाम भी हम नही जानते लेकिन हमे उन सभी को अपने दिल में सजोकर रखना चाहिए और उनकी एक याद हमे जरूर रखनी चाहिए। आजादी की लड़ाई में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का भी योगदान रहा जिसमे गर्म दल और नरम दल दोनो का महत्वपूर्ण योगदान रहा जो लोग कहते है हमे आजादी बिना खून खराबे के मिल गई या मिल सकती थी तो उनको उन वीरों को याद करना चाहिए जिन्होंने देश के लिए अपनी जान गंवाई और अपने परिवार सहित देश से बाहर रहना पड़ा अपने ही देश में दूसरों के शासन को हटाने के लिए अपनो से ही लड़ाई लड़नी पड़ी। आज हम सब उन वीरों को याद करते हुए अपनी आजादी का जश्न मना रहे है और उन्हे हमेशा याद रखेंगे धन्यवाद।

स्वतंत्रता दिवस निबंध | Independent Day Essay In Hindi

  • प्रस्तावना :- 15 अगस्त 2022 को भारत अपना 76 वा स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। आजादी को पूरे 75 वर्ष पूर्ण होने की खुशी में भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आजादी का अमृत महोत्सव मनाने का फैसला लिया है।
  • इतिहास:- 17वीं शताब्दी की शुरुआत में अंग्रेज भारत आए और उन्होंने धीरे-धीरे संपूर्ण भारत पर अपना अधिकार जमा लिया और जब 1857 की क्रांति में भारतीय समाज ने उन्हें उखाड़ फेंकने की सोची तो उन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन को हटाकर ब्रिटिश क्राउन का शासन लागू कर दिया। लेकिन भारतीयों को और विदेशी शासन बिल्कुल भी नहीं आ रहा था और उन्होंने इसे जड़ से उखाड़ने की सूची और 15 अगस्त 1947 को लगभग 200 वर्ष की गुलामी के बाद भारत आजाद हुआ।
  • याद करो अपने आदर्शों को:– आजादी के लिए जिन भी वीर जवानों ने हमारे लिए अपने प्राणों का त्याग किया है हमें उन आदर्शों को याद करना चाहिए और उनके बलिदान को कभी नहीं भूलना चाहिए।
  • कैसे मनाते है :- संपूर्ण भारत में स्वतंत्रता दिवस मिठाईयां बांटकर स्कूलों और कॉलेजों में गोंदण बांटकर बनाया जाता है सभी सार्वजनिक व प्राइवेट जगह पर तिरंगा झंडा फहराया जाता है और लाल किले की प्राचीर पर झंडा फहराने के बाद भारतीय प्रधानमंत्री भाषण देता है और उसके बाद राष्ट्रपति का संबोधन होता है।

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 2022 | Happy Independence Day Of India Best Wishes, Quotes, Shayari, Status, SMS For Facebook, Instagram, Twitter, Pinterest, YouTube Video Photos & Images

स्वतंत्रता दिवस FAQ

भारत (India) में स्वतंत्रता दिवस (Independent Day) कब और क्यों मनाया जाता है?

भारत में स्वतंत्रता दिवस हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है क्योंकि इस दिन 15 अगस्त 1947। को हमारा देश ब्रिटिश गुलामी से आजाद हुआ था। लेकिन अंग्रेजो ने हमारे देश के 2 हिस्से कर दिए थे एक भारत एक पाकिस्तान बाद में जाकर पाकिस्तान के भी 2 हिस्से हो गए एक बांग्लादेश और दूसरा पाकिस्तान।

भारत में स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया (Celebration) जाता है?

गणतंत्र दिवस भारत के राष्ट्रीय त्योहारों में से एक है इस दिन सभी की छुट्टी होती है लेकिन सभी सरकारी संस्थाओं के ऑफिस पर तिरंगा फहराया जाता है। प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराते हैं और देश के लिए एक भाषण देते हैं। भारतीय सेना ने अपना शौर्य प्रदर्शन करती हैं।

यह भी पढ़े

Leave a Comment